कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत प्रमुख मन्दिरों से भीड़ को रोकने की पदाधिकारियों ने दिये सुझाव
जन्माष्टमी एवं 15 अगस्त पर सोशल का डिस्टेंसिंग का पूर्ण ध्यान रखा जाये
त्यौहारों के दृष्टिगत शहर को साफ-सुथरा एवं सेनेटाइज किया जाये
मथुरा जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्र एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डाॅ0 गौरव ग्रोवर के साथ कलेक्टेªट सभागार में जन्माष्टमी एवं 15 अगस्त से संबंधित बैठक ली, जिसमें बांके बिहारी, जन्मस्थान, द्वारिकाधीश मन्दिर के साथ अन्य प्रमुख मन्दिरों के पदाधिकारियों ने भाग लिया। बैठक में सुझाव लिये गये कि कोरोना के दृष्टिगत मन्दिरों में भीड़-भाड़ को रोका जाये। इसके लिए प्रमुख मन्दिरोें के पदाधिकारी प्रशासन को दो दिन में अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करें।
बैठक में उपस्थित व्यक्तियों का सुझाव था कि मानव जीवन को कोरोना वायरस से बचाये जाने के लिए मन्दिरों से 11 अगस्त के 12 बजे से 13 अगस्त के सांय 04 बजे तक बाहरी व्यक्तियों को प्रतिबन्धित रखा जाये। साथ ही मुड़ियो पूनो की तरह जन्माष्टमी पर भी बाहरी व्यक्तियों के आवागमन को रोका जाये।
जिस पर जिलाधिकारी ने सभी प्रमुख मन्दिर के प्रबंधकों से लिखित में अपना सुझाव देने की बात कही। तत्पश्चात ही जन्माष्टमी पर मन्दिरों के संबंध में उचित निर्णय लिया जायेगा।
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी प्रशासन सतीश कुमार त्रिपाठी, नगर मजिस्टेªट मनोज कुमार सिंह, पुलिस अधीक्षक नगर उदय शंकर सिंह, सभी उप जिलाधिकारी, श्री बांके बिहारी, श्री कृष्ण जन्मस्थान, श्री द्वारिकाधीश सहित अन्य मन्दिरों के प्रमुखगण उपस्थित थे।

Post A Comment:

0 comments: