Vikas Dubey Encounter: कानपुर के चौबेपुर क्षेत्र में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या के मुख्य आरोपी विकास दुबे (Vikas Dubey) को शुक्रवार सुबह पुलिस ने एनकाउंटर में मारा गिराया. भागने की कोशिश में विकास दुबे को पुलिस ने ढेर कर दिया है. बताया जा रहा है कि जो गाड़ी पलटी थी, विकास दुबे उसी में सवार था. सूत्रों के मुताबिक, एसटीएफ का कहना है कि विकास दुबे ने हथियार छीना और 2-3 किलोमीटर भागा. इसके बाद एनकाउंटर में उसे मार गिराया गया.  विकास दुबे को गुरुवार सुबह उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार किया गया था. उत्तर प्रदेश पुलिस की STF उसे मध्य प्रदेश से उत्तर प्रदेश ला रही थी।
भारी बारिश की वजह से यह गाड़ी फिसल गई थी. कानपुर के पहले भौती के पास यह हादसा हुआ. इस हादसे में कुछ पुलिसवालों के भी घायल होने की खबर है।
जानकारी के मुताबिक, पुलिस की जो गाड़ी हादसे का शिकार हुई है, विकास दुबे उसी में सवार बताया जा रहा था.   सूत्रों के मुताबिक, एसटीएफ का कहना है कि गाड़ी पलटने के बाद विकास दुबे ने हथियार छीना और भागने की कोशिश की. विकास दुबे के भागने पर पुलिसकर्मियों ने उसका पीछा किया।

विकास दुबे 2-3 किलोमीटर आगे तक भागा. जिसके बाद पुलिस के साथ उसका एनकाउंटर हुआ. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, कानपुर पश्चिम के पुलिस अधीक्षक ने कहा कि गाड़ी के पलटने के बाद विकास दुबे ने घायल पुलिसकर्मी की पिस्टल छीन कर भागने की कोशिश की. पुलिस उससे सरेंडर कराने की कोशिश कर रही थी, उसी दौरान उसने एक पुलिसकर्मी पर फायर कर दिया. जवाबी कार्रवाई में विकास दुबे घायल हो गया. जिसके बाद उसे अस्पताल ले जाया गया।
पुलिस के साथ एनकाउंटर में विकास दुबे की मौत हो गई है. विकास दुबे का एनकाउंटर कानपुर के पास भौती में हुआ. घटना के बाद सामने आ रही तस्वीरों में विकास दुबे को स्ट्रेचर पर लेटा हुआ ले जाते हुए दिखाया जा रहा है. एएनआई के मुताबिक, अस्पताल प्रशासन से विकास दुबे को मृत घोषित कर दिया है।

Post A Comment:

0 comments: