Reporter kk chaddha
फरीदाबाद 12 अगस्त 2020 : आर.टी.आई एक्टिविस्ट मोहन तिवारी ने सूचना के अधिकार के तहत आपदा प्रबंधन विभाग व हरियाणा के वित्त विभाग से केंद्र सरकार द्दारा जारी धनराशि के बारे में 9 विन्दुओ पर सूचना मांगी थी जिसके बारे में बताया गया है कि 25 मार्च 2020 को 7 करोड़ 11 लाख रुपये और 6 अप्रैल 2020 को 75 करोड़ 58 लाख रुपये नेशनल हेल्थ मिशन के लिए केंद्र सरकार द्दारा जारी किया गया, इसके अलावा यह भी बताया गया है कि कोविड 19 महामारी सहित राज्य आपदा प्रबंधन के मद में 3 अप्रैल को 245 करोड़, 50 लाख रुपये प्राप्त हुए।
वित्त विभाग ने 20 अप्रैल 2020 को 75 करोड़ 8 लाख रुपये, 22 अप्रैल को 61 करोड़ 5 लाख रुपये नेशनल हेल्थ मिशन हरियाणा को निर्गत किया। इसके अतिरिक्त 30 जून 2020 को 3 सौ 4 करोड़ 23 लाख रुपये राजस्व एवम आपदा प्रबन्धन विभाग हरियाणा को जारी किया गया है।
एक अन्य सवाल के जवाब में बताया गया है कि हरियाणा सरकार द्दारा 14 जुलाई 2020 तक 8 सौ 99 करोड, 6 लाख रुपये कोविड 19 महामारी से निपटने के लिए विभिन्न विभागों को जारो किया गया है किन्तु आश्चर्य की बात है की वित्त मंत्रालय ने स्पष्ट रूप से यह नही बताया है कि किस मद में कितनी रकम खर्च हुआ, मसलन श्री तिवारी ने बिंदु संख्या 3 में पूछा था कि फरीदाबाद रेड क्रॉस सोसाइटी को फरीदाबाद जिले के लिए कब और कितनी रकम दी गयी, बिंदु संख्या 4 में खर्च का ब्यौरा मांगा गया है, साथ ही श्री तिवारी ने अपने आवेदन पत्र में यह भी पूछा था कि रेड  क्रॉस सोसाइटी द्दारा किन- किन स्वंय सेवी संस्थाओ को भोजन पैकेट वितरण के लिए कितनी रकम दी गयी, एक पैकेट का खर्च कितना हुआ और किन-किन क्षेत्रो में और कितने भोजन के पैकेट वितरण किये गये किंतु वित्त मंत्रालय द्दारा इन प्रश्नों का जवाब न देने से ऐसा प्रतीत होता है कि कोविड 19 महामारी के लिए केंद्र द्दारा जारी करोड़ो रुपये के धन राशि का लाभ आम जनता को कम मिला और स्थानीय स्तर पर ब्यापक पैमाने पर गोल माल की जा रही है श्री तिवारी ने इस सम्बन्ध में संज्ञान लेकर विस्तृत व सघन रूप से उच्च स्तरीय जांच की जरूरत बताई है।

Post A Comment:

0 comments: