रिपोर्टर दीपक कुमार शर्मा
अगर आप अपने बच्चे के इलाज के लिए दिल्ली के कलावती सरन शिशु अस्पताल जाते हैं तो सावधान हो जाइए. जानकारी के मुताबिक़ मुकेश गुप्ता से हुई बातचीत में पता चला की यहाँ के सुपरवाइज़र नितिन एवं सुरक्षा कर्मी करते है बतमीजी लोगों से जो परिजन टीका लगवाने के लिए  हॉस्पिटल जाते है !
सबसे ज़्यादा ख़राब व्यवहार नितिन सुपरवाइज़र का बताया जा रहा है उसे बात करने की बिल्कुल भी तमीज़ नही है जब मुकेश गुप्ता ने उसे बोला की आपका तरीक़ा सही नही है बात करने का ऐसे बात मत करो इससे हॉस्पिटल की छवि ख़राब होती है तब नितिन सुपरवाइज़र ने बोला तेरे जैसे लोग यहा बहुत आते है चुपचाप चला जा यहा से और तुझे मेरी कम्प्लेंट जहाँ भी करनी हो कर दे ! मै किसी से नही डरता ! मै ऐसा ही हु सुधरने वाला नही हु मै।तभी सुरक्षाकर्मी (गार्ड ) आता है  वह भी मुकेश गुप्ता को ग़लत शब्दों में बतमीजी से बात करता है जो कि गौरव एंटर्प्रायज़ेज़ नामक वेंडर के तहत कार्य करते है ! गार्ड एवं सुपरवाइज़र के ग़लत एवं ख़राब व्यवहार से कलावती हॉस्पिटल चाइल्ड सेंटर की छवि दिन प्रतिदिन ख़राब होती जा रही है जिससे लोगों मेन काफ़ी आक्रोश पैदा हो रहा है !

Post A Comment:

0 comments: