विष्णु दयाल ब्यूरो चीफ फरीदाबाद  

     

फरीदाबाद, 10 अगस्त: मानव रचना यूनिवर्सिटी के छात्रों ने स्मार्ट इंडिया हैकॉथॉन की सॉफ्टवेयर श्रेणी में पहला स्थान हासिल किया है। बी.टेक कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग के सातवें सेमेस्टर के छात्रों ने मिनिस्ट्री ऑफ रूरल डेवलप्मेंट की परेशानी को सुलझाने के लिए ‘MK206’ सॉफ्टवेयर बनाया है। यह सेल्फ हेल्प ग्रुप्स के लिए नॉन- नेटवर्क-इंटेंसिव रिकॉर्ड कीपिंग सिस्टम सॉफ्टवेयर है। इस सॉफ्टवेयर का मकसद, गांव में रहने वाले सेल्फ हेल्प ग्रुप्स के लिए एक ऐसा रिकॉर्ड सिस्टम तैयार करना था जो कि कम नेटवर्क यानी कि 2जी नेटवर्क में भी चल सके और उनके रिकॉर्ड सुरक्षित रहें। चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी नोडल सेंटर में आयोजित ऑनलाइन प्रतियोगिता में प्रदर्शित किए गए इस सॉफ्टवेयर को ज्यूरी द्वारा काफी पसंद किया गया, जिसके लिए मानव रचना यूनिवर्सिटी की टीम एरर=404 को पहला स्थान और एक लाख रुपए से सम्मानित किया गया।


बीटेक कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग के छात्र ऋषभ धिमन, मृनमॉय मित्रा, आयुष सिंह, दीप भारद्वाज, विशाखा त्यागी और अमन गुप्ता ने अपने मेंटर प्रोफसर अनुप्रिया शर्मा और प्रोफसर अंकुर अग्रवाल के साथ यह सॉफ्टवेयर तैयार किया है।  


स्मार्ट इंडिया हैकॉथॉन विश्व का सहसे बड़ा ओपन इनोवेशव मॉडल है जो शिक्षा मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा आयोजित किया जाता है। 36 घंटे तक चलने वाले इस कार्यक्रम में छात्र भारत के अलग-अलग मंत्रालयों की परेशानियों का समाधान देते हैं। इस साल भी 50 लाख से ज्यादा छात्रों ने हिस्सा लिया था जिनमें IISc, IITs, NITs और अन्य AICTE/UGC द्वारा मान्यता प्राप्त कॉलेज शामिल रहे।


.

Post A Comment:

0 comments: