विष्णु दयाल ब्यूरो चीफ फरीदाबाद

फरीदाबाद 30 सितंबर : देश के अंदर कानून व्यवस्था एक मजाक बनकर रह गई है l आज सोई हुई इस कानून व्यवस्था की कीमत उत्तर प्रदेश के हाथरस गांव की एक बेटी को अपनी जान देकर चुकानी पड़ी lउत्तर प्रदेश के हाथरस (Hathras Gangrape Case) में एक युवती के साथ दरिंदगी की घटना सामने आई. दलित परिवार का आरोप है कि उनकी 19 साल की बेटी के साथ गांव के ही 4 लोगों ने गैंगरेप किया. उनका कहना है कि वारदात को अंजाम देने के बाद लड़की का जीभ काट दिया गया और रीढ़ की हड्डी तोड़ दी गई, ताकि वह मदद के लिए कहीं न जा पाए. 14 दिन की जंग के बाद मंगलवार सुबह पीड़िता ने दिल्ली के सफदरजंग हॉस्पिटल में दम तोड़ दिया. देशभर में इस घटना को लेकर काफी ज्यादा गुस्सा है. हर तरफ से एक ही मांग उठ रही है कि दोषियों को सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए. साथ ही उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था पर एक बार फिर सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं.


हाथरस केस में यूपी पुलिस पर भी कई आरोप लगे हैं. देर रात लड़की का शव उसके गांव पहुंचा. परिवारवालों ने पुलिस पर जबरन अंतिम संस्कार कराने का आरोप लगाया है. परिवार का कहना है कि पुलिस ने शव को एक बार घर ले जाने की इजाजत तक नहीं दी. जल्दी-जल्दी में अंतिम संस्कार करा दिया गया. ट्विटर पर पीड़िता के अंतिम संस्कार के कई वीडियो शेयर किए गए हैं, जिसमें लोग पुलिस के इस रवैये पर सवाल खड़े कर रहे हैं l

Post A Comment:

0 comments: