ऑनलाइन रोजगार मेले के लिए डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डॉट एचआरईएक्स डॉट जीओवी डॉट इन पर रजिस्ट्रेशन जरुरी


फरीदाबाद, 17 सितम्बर। मंडल रोजगार अधिकारी सुरेंद्र सिंह मोर ने बताया कि विभाग द्वारा 30 सितंबर को एक वर्चुअल रोजगार मेले का आयोजन किया जायेगा। इसकी प्रक्रिया पूरी तरह ऑनलाइन होगी। रोजगार विभाग विभागीय पोर्टल डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डॉट एचआरईएक्स डॉट जीओवी डॉट इन पर कंपनियों तथा बेरोजगार युवाओं के पंजीकरण के लिए प्रयासरत है तथा अधिक से अधिक युवाओं को क्षेत्रीय कंपनियों में रोजगार दिलवाने के लिए औद्योगिक संगठनों से भी संपर्क कर रहा है।

उन्होंने बताया कि कोविड-19 की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए रोजगार मेले का पूरा प्रोसेस ऑनलाइन किया गया है ताकि बेरोजगार युवाओं को दफ्तर व कंपनियों के चक्कर न काटने पड़े व उनके धन तथा समय की बचत हो सके। पंजीकृत कंपनियां अपने लॉग इन आईडी से इस मेले हेतु पोर्टल पर दिनांक 24 सितम्बर तक ऑनलाइन रिक्तियां अपलोड कर सकेंगे तथा पोर्टल पर पंजीकृत बेरोजगार युवा भी इन रिक्तियों के लिए अपने लॉगइन आईडी से दिनांक 30 सितम्बर तक ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। इसके पश्चात् कंपनियां अपनी सुविधानुसार रोजगार के इच्छुक युवाओं को शार्टलिस्ट करके टेलीफोनिक, ऑनलाइन या अपने कैंपस में साक्षात्कार ले सकेंगी तथा चयन परिणाम अपलोड कर सकेंगी। इस प्रकार यह प्रक्रिया पूरी तरह ऑनलाइन संचालित होगी। इस पोर्टल पर जहाँ युवाओं को कहाँ व किस संसथान में जॉब है पता लग सकता है तथा नियोक्ता को भी आसानी से उसकी आवश्यकतानुसार प्रार्थी मिल जायेगे। क्षेत्र की सभी कंपनियों तथा रोजगार के इच्छुक युवाओं को इस रोजगार मेले के लिए आमंत्रित किया जाता है कि वे इस रोजगार मेले में अवश्य भाग ले जिससे अधिक से अधिक युवाओं को रोजगार मिल सके।


उन्होंने बताया कि रोजगार विभाग द्वारा प्रत्येक तिमाही में बेरोजगार युवाओं को निजी क्षेत्रो में रोजगार उपलब्ध करने हेतु आधुनिक रोजगार पोर्टल शुरू कर दिया गया है। इससे प्रदेश में स्थित औद्योगिक कंपनियों को इस पोर्टल के जरिये श्रमिक व रोजगार के लिए किसी विशेष स्किल से जुड़े हुए युवा भी उपलब्ध हो सकेंगे। निजी क्षेत्र में युवाओं को रोजगार दिलाने के लिए रोजगार विभाग द्वारा निजी क्षेत्र की कंपनियों से एमओयू किये गये है जिनमे वर्कएक्स, हरबोटटीम लीजमैनपावर ग्रुपग्लोबल टेकवीजन आदि शामिल है।

 

इसके अतिरिक्त हरियाणा के युवाओं को सरकारी खर्चे पर ट्रेनिंग दिलाकर सरकारी सेवाओं में उनकी भागीदारी बढ़ाने के प्रयास भी किये जा रहे है। इसके लिए विभाग ने ग्रेड अप संस्था के साथ एमओयू किया है तथा प्रथम चरण में 50,000 युवाओं को प्रशिक्षण देने का लक्ष्य रखा गया है। इससे उन्हें बैंकिंगरेलवेडिफेन्सएसएससी आदि प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए तैयार किया जायेगा। उन्होंने बताया कि कोविड-19 की विशेष परिस्थितिओं में अनलॉक प्रक्रिया की शुरुआत होने से अधिकतर औद्योगिक इकाईओं ने कार्य करना शुरू कर दिया है तथा बड़े स्तर पर श्रमिकों के अपने ग्रह राज्य चले जाने से उत्पन्न श्रमिकों की कमी को पूरा करने के लिए रोजगार विभाग ने अपनी गतिविधियां शुरू कर दी है। इसके लिए ऑनलाइन रोजगार पोर्टल की शुरुआत की गई है तथा रोजगार मेलों की प्रक्रिया भी पूरी तरह से ऑनलाइन कर दी गई है। 

--

Post A Comment:

0 comments: