पश्चिम दिल्ली के थाना डबरी जिला द्वारका में तैनात ए.एस.आई.सतीश कुमार और कांस्टेबल अजय कुमार अपनी कार्य कुशलता और कर्मनिष्ठा के लिए क्षेत्र में चर्चा के पात्र बने हुए हैं। आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों में दोनों के नाम का डर व्याप्त है। क्षेत्र में बढ़ते अपराध, झपट मारी, चोरी की वारदातों पर अंकुश पाने के लिए दोनों की जुगलबंदी ने बहुत ही सराहनीय कार्य किए हैं। चाहे बात करें कोविड महामारी के नियमों के उल्लंघन करने वालों पर कार्यवाही के मामले की या अन्य अपराधिक मामलों की। इस अपराध पर काबू पाने के लिए दोनों ने जी-तोड़ मेहनत कर, ना सिर्फ अपना नाम सम्माननीय शब्दों में दर्ज कराया है, बल्कि पुलिस महकमे और थाना डाबड़ी का भी नाम रोशन किया है। दोनों की कार्यकुशलता इस तरह की है कि अपराधी दोनों का नाम सुनते ही थरथर काँपते हैं। क्षेत्र में दोनों के काम की बहुत प्रशंसा हो रही है।



पूरा मामला- थाना दाबड़ी क्षेत्र के भरत विहार रोड पर सिलसिलेवार तरीके से चोरी की घटनाएँ हो रही थीं। सोम-मंगल की मध्यरात्री को पुनः 2-3 घरों मे एक साथ चोरी हुई। सुबह करीब 10 बजे चोरी की शिकायत थाना डबरी में की गई। केस ए.एस.आई. सतीश कुमार और कांस्टेबल अजय कुमार के पास आया। दोनों नें टीम गठित की और शाम होते-होते अपनी चपलता और कार्य कुशलता से केस को सुलझा लिया। चोरी की घटना में लिप्त अपराधी को हिरासत मे ले कर। चोरी का माल भी बरामद कर लिया। कुछ समान की बरमदगी नहीं हुई, उसकी जल्द बरामदगी का आश्वासन दिया है।


इस मामले के बाद स्थानीय लोगों से पुलिस की कार्यशैली के बारे में सवाल किया गया तो अधिकतर लोगों के मुंह से यही बात सुनने को मिली कि हर क्षेत्र में, हर पुलिस थाने में इस तरह के निष्ठावान, कार्यकुशल और अपने कर्म के प्रति जुझारू पुलिस अहलकार होने चाहिए जिससे अपराध की बढ़ती घटनाओं पर अंकुश लग सके।



"लोग हमेशा पुलिस के कामकाज पर उंगली उठाते हैं यदि पुलिस अच्छा काम करती है तो उसे क्यूँ नज़र अंदाज़ कर दिया जाता है मैं सरकार और पुलिस के आला अधिकारियों से अपील करूंगा अच्छा काम करने पर पुलिसकर्मियों के उत्साहवर्धन के लिए उन्हे सम्मानित भी किया जाना चाहिए"- संजय बंसल, (स्थानीय निवासी)


"ए.एस.आई. सतीश कुमार और कांस्टेबल अजय कुमार ने जिस शीघ्रता से केस सुलझाया है इस के लिए दोनों बधाई के के पात्र हैं और सम्मान के हक़दार भी" - सोनू सोलंकी (स्थानीय दुकानदार)


"पुलिस और पुलिस डिपार्टमेन्ट को लेकर मेरी सोच कुछ अच्छी नहीं थी लेकिन जिस तरह से  ए.एस.आई.सतीश कुमार और कांस्टेबल अजय कुमार ने कार्य किए इस से  पुलिस को लेकर मेरी धारणा  सकारात्मक हुई है" - हज्जू चौधरी (स्थानीय)

Post A Comment:

0 comments: