रिपोर्टर : करन शर्मा * 

  पिछले चार महीनों से नॉर्थ दिल्ली के एमसीडी अस्पतालों में डॉक्टरों और सैलरी नहीं मिलने और उसमें जारी इररेगुलैरिटीज़ को देखते हुए फोरडा ने ऑथरिटीज को 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया है. यह प्रोटेस्ट नॉन कोविड अस्पतालों में होगा.!  नई दिल्ली: फेडरेशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर एसोसिएशन इंडिया (फोरडा) ने देश की राजधानी दिल्ली के सभी सरकारी अस्पतालों के डॉक्टरों से आह्वान किया है कि वह 27 अक्टूबर को दो घंटे के लिए ‘पेन डाउन’ कर दें. सफदरजंग, राम मनोहर लोहिया, एलएनजेपी, मौलाना आजाद, जीटीबी सहित  27 छोटे -बड़े अस्पताल शामिल हैं.  पिछले चार महीनों से नॉर्थ दिल्ली के एमसीडी अस्पतालों में डॉक्टरों और सैलरी नहीं मिलने और उसमें जारी इररेगुलैरिटीज़ को देखते हुए फोरडा ने ऑथरिटीज को 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया है और अगर डॉक्टरों की सैलरी को लेकर कोई भी पुख्ता इंतजाम (परमानेंट सॉल्यूशन) सरकार और कंसर्न ऑथरिटीज द्वारा नहीं दिया जाता है तो देश की राजधानी के सभी सरकारी अस्पतालों के डॉक्टर सिम्बॉलिक प्रोटेस्ट करेंगे और दो घंटें के लिए काम काज बिल्कुल बंद कर देंगे. यह प्रोटेस्ट नॉन कोविड अस्पतालों में होगा.  अगर फिर भी बात नहीं बनती है तो ये डॉक्टर कल यानी मंगलवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर भी जा सकते हैं. बता दें कि 5 अक्टूबर से हिंदूराव के डॉक्टर सैलरी को लेकर प्रतीकात्मक प्रदर्शन कर रहे हैं. और 23 तारीख से पांच डॉक्टर लगातार भूख हड़ताल पर बैठे हुए हैं. फिलहाल उन्हें एक महीने की सैलरी दे दी गई है लेकिन तीन महीने की सैलरी अभी तक नहीं दी गई है और समस्या जस की तस बनी हुई है

Post A Comment:

0 comments: