रिपोर्टर:योगेश शर्मा

क़स्बा चंडौस ज़िला अलीगढ़ श्रीराम के उपासक इस बार राम की लीलाओं का मंचन देखने से वंचित रह सकते हैं। क़स्बा चंडौस में रामलीला का मंचन होगा अथवा नहीं इस पर संशय है।क्योंकि चंडौस कोतवाली के इन्स्पेक्टर एवं उप ज़िला अधिकारी गभाना अलीगढ़ के नास्तिक एवं तानाशाही के चलते रामलीला कमेटी (रेजिस्टर्ड )चंडौस को रामलीला मंचन की अनुमति नही दे रहे है। रामलीला कमेटी के अध्यक्ष श्री भोगीराम शर्मा ने बताया ऐसा पहली बार होगा 81 वर्ष से लगातार हर वर्ष रामलीला कमेटी चंडौस रामलीला मंचन का आयोजन कोतवाली चंडौस से अनुमति लेकर करती आ रही है परंतु इस बात चंडौस कोतवाली के इन्स्पेक्टर एवं उप ज़िला अधिकारी गभाना अलीगढ़ अपनी तानाशाही दिखा रहे है जिससे क़स्बा चंडौस निवासी काफ़ी दुखी है लोगों को धार्मिक ठेस पहुँच रही है ।

रामलीला कमेटी द्वारा कई बार मंचन की अनुमति के लिए ज्ञापन दिया जा चुका है परंतु दोनो आला अधिकारियों की ताना शाही के चलते अनुमति नही दी जा रही। रामलीला कमेटी के अध्यक्ष एवं अन्य सदस्य काफ़ी बार क़स्बा चंडौस कोतवाली  जा कर मंचन के लिए प्रार्थना पत्र दे चुके है परंतु कोई फ़ायदा नही हुआ हर बार इन्स्पेक्टर द्वारा गुमराह किया जाता है ।इन्स्पेक्टर द्वारा उपज़िला अधिकारी के पास भेजने के लिए बोला जाता है ।जब रामलीला कमेटी के अध्यक्ष एवं अन्य पदाधिकारी उपज़िलाधिकारी गभाना के पास पहुँचते है तो वहाँ से भी गुमराह किया जाता है बोला जाता है कि चंडौस कोतवाली जा कर मिलो। क़स्बा निवासी बहुत दुखी है इस प्रशासन की तानाशाही से जबकि नवरात्र के शुभारंभ के साथ ही रामलीला का मंचन शुरू होता है।अनलाक-5 की गाइडलाइन के मुताबिक रामलीला कमेटी चंडौस ने लगभग सभी तैयारियों को भी पूर्ण कर लिया था। शुक्रवार को पूरे दिन आयोजनकर्ता अनुमति मिलने का इंतजार करते रहे, लेकिन खबर लिखे जाने तक किसी भी आयोजनकर्ता को अनुमति नहीं मिल पाई है।आयोजकों का कहना है कि अनलाक-5 की गाइडलाइन के अनुसार रामलीला मंचन की तैयारी की गई है। मंचन को लेकर लगभग सभी तैयारियां पूर्ण हो चुकी है। पिछले एक सप्ताह से प्रशासन की अनुमति का इंतजार कर रहे थे। अभी तक उपजिलाधिकारी कार्यक्रम करने के लिए स्वीकृति देते थे, कोतवाली चंडौस द्वारा रामलीला कमेटी में विवाद बताया जा रहा है परंतु किसी भी तरह का कोई भी विवाद नही है।इस बार अनुमति नही दी।ऐसा 81 वर्ष में पहली बार हुआ है।प्रशासनिक स्तर से स्वीकृति नहीं मिली है। पुलिस व प्रशासन के आदेश का इंतजार किया जा रहा है। अनुमति मिलने पर ही आयोजन संभव है।

Post A Comment:

0 comments: