REPORTER    JAI    PRAKASH  GUPTA 

सिद्धार्थनगर। सशस्त्र सीमा बल 43वी वाहिनी की अलग अलग सीमा चौकियो के जवानों ने कुल 15 नेपाली नाबालिग लड़को को मानव तस्करों के चंगुल से बचाकर स्थानीय गैर सरकारी संगठन की उपस्थिति में आरोपियों तथा लड़को को नेपाल पुलिस को अग्रिम कार्यवाही हेतु सुपुर्द कर दिया है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक सीमा चौकी अलीगढ़वा के जवानों ने 8 एवं सीमा चौकी ककरहवा के जवानों ने 7 नाबालिग नेपाली लड़को को मानव तस्करी होने से बचाया है। तस्करी में संलिप्त आरोपियों की पहचान मनोज कुर्मी पुत्र भासु कुर्मी गाँव वासखोर शुशोधन गांवपालिका वार्ड नं06 थाना पकड़ी जिला कपिलवस्तु नेपाल, अनिल कुमार थारू पुत्र बाबा राम थारू गाँव बघमरहा वार्ड 01 थाना लुम्बिनी जिला रुपनदेही नेपाल व विजय बहादुर लोध पुत्र अयोध्या प्रसाद लोध गाँव बघमरहा वार्ड न 01 थाना लुम्बिनी जिला रुपनदेही नेपाल के रूप में हुई है। जिन्हें अग्रिम कार्यवाही के लिए सीमा चौकी प्रभारी अलीगढ़वा एवं ककरहवा व गैर सरकारी संगठन मानव सेवा संस्थान के जय प्रकाश गुप्ता, जीवनमाया, अंजनी गुप्ता, आकांक्षा वर्मा एव दिलीप चौरसिया की उपस्थिति में नेपाल पुलिस को सुपुर्द कर दिया है। उप-कमांडेंट मनोज कुमार ने कहा की वर्तमान समय में मानव तस्करी के मामलों पर सशस्त्र सीमा बल के द्वारा पैनी नजर रखी जा रही है जिससे कि  किसी भी गरीब परिवारों के बच्चों और लड़कियों को  मानव तस्करी में संलिप्त व्यक्ति, नौकरी या पैसे का झांसा दे कर तथा बहला फुसला कर नेपाल से भारत या भारत से नेपाल तस्करी न कर पाए और उनका  शोषण न हो सकें ।

Post A Comment:

0 comments: