रिपोर्टेर: दीपक कुमार शर्मा

*कासगंज।।थाना सिढपुरा क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम उतरना में पूजा पुत्री कृपाल सिंह अपने पिता के घर अपनी ज़मीन पर एक कमरा बनाने के लिए ग्राम सिढ़पुरा गयी हुई थी तभी पूजा के परिवार के लोगों ने मिलकर एक सोची समझी साजिस रच डाली जिसमें विजय ,रामू,संतोष पुत्र दौलत सिंह व लडके गजेंद्र ,योगेन्द्र, पुत्र अजय,व मनोज पुत्र विजय, विकास,गोविंद,पुत्र रामू निवासी उतरना थाना सिढपुरा कासगंज ने एक राय होकर घर में घुसकर मारा और गाली गलोच करते हुए धमकी दी यदि थाने में हमारे ख़िलाफ़ रिपोर्ट करने गयी तो हम जान से मार देंगे।

चाचा ने अपनी ही भतीजी पूजा के सिर पर ईंट फेंक कर वार कर दिया। जिससे युवती के सिर में गंभीर रूप से चोट आई है। व पीडिता के पति एवं देवर को भी पुलिस की दबंगई दिखाते हुए पूजा की बहनो को डरा धमकाकर  पीडिता व उसके पति व देवर को झूठे आरोप में फँसा दिया बल्कि उनके ऊपर एफ आइ आर दर्ज की गयी । जिस दिन की यह घटना थी उस दिन पीडिता के पति मुकेश सिंह तोमर व देवर उपदेश व बृजेश सिंह तोमर दिल्ली में अपनी काम पर थे पीडिता के पति मुकेश सिंह ने थाने की पुलिस को गाड़ी टोल की रसीद भी दिखाई परंतु पुलिस ने एक ना सुनी बल्कि पुलिस कर्मी चाचा की दबंगई व थाने की पुलिस की मिलीभगत से पीडिता व उसके पति व देवर को झूठे आरोप में फँसा दिया गया।घटना की रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपी दंपति के खिलाफ दर्ज की जिसका एफआइआर नंबर 0112 दिनांक 17/07/20 को पीड़ित द्वारा दर्ज करवायी गयी परंतु अभी तक पीड़िता को न्याय नही मिला। पीडिता का कहना है उसके चाचा अलीगढ़ थाने में दरोग़ा है इसी का रोब दिखाते हुए वो अपने बेटों के साथ मिलकर दबंगई करते हुए मेरे साथ मारपिटाई की और मुझे जान से मारने की धमकी भी दी।थाने सिढपुरा की पुलिस भी मदद नही कर रही है बल्कि बोलती है कि आरोपी व्यक्ति पुलिसकर्मी है हमारे स्टाफ़ का मामला है हम कोई कार्यवाही नही कर सकते। जिसकी शिकायत पीडिता ने महिला आयोग मे भी दर्ज करवायी है परंतु अभी तक कही से भी न्याय नही मिला।
पीडिता ने मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी व माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी से न्याय की गुहार लगायी हैं जिससे पीड़िता को न्याय मिल सके।

Post A Comment:

0 comments: