Repoter Suhel Ahmed Delhi 

इन चोरों का  स्टाइल ही  निराला था हफ्ते में पांच दिन झपटमारी या वाहन चोरी और बाकी दो दिन वीकएंड पर गर्लफ्रेंड के साथ मौज-मस्ती...। मध्य जिला के सिद्धिपुरा पुलिस चौकी  इंचार्ज  संदीप गोदारा वा उनकी  टीम ने झपटमारों के मामा गैंग का पर्दाफाश कर तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है दिल्ली में। आरोपियों की पहचान गैंग सरगना शुभम उर्फ मामा जिसकी उम्र (19), यश (19) और जो लूटे व झपटे गए मोबाइल  को खरीदा था जिसका नाम मो. तौफीक (23) के रूप में हुई है। 

मोहम्मद तौफीक की गफ्फार मार्केट करोल बाग के अंदर  मोबाइल रिपेयरिंग की दुकान है। वह शुभम और यश से झपटे गए या छीने गए मोबाइल खरीदकर उनके आईएमईआई नंबर बड़ी चालाकी से बदल देता था। बाद में उनको बेच देता था। पुलिस को 

आरोपियों के पास से कुल 16 मोबाइल फोन और  4 स्कूटी व 1 मोटरसाइकिल  बरामद  हुई  है।

आरोपी शुभम व यश बारात घर और कम्यूनिटी हॉल के पास महिलाओं को निशाना बनाते थे। हफ्ते में महज पांच ही दिन झपटमारी करने के साथ आरोपी पुलिस से बचने के लिए हर दिन चोरी की नई स्कूटी का इस्तेमाल करते थे। पुलिस पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ कर मामले की जांच कर रही है।

शुभम व यश ने बताया कि पांच दिन लूटपाट करने के बाद दो दिन वह अपनी गर्लफ्रेंड के साथ टाइम बिताते हैं। अपने शौक पूरे करने के लिए वह झपटमारी की वारदात को अंजाम देते थे। तौफीक इनसे मोबाइल खरीदकर उनके आईएमईआई नंबर बदलकर बेचता था। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर मामले की छानबीन कर रही है।

दोनों आरोपी शुभम व यश बारात घर या आसपास के कम्यूनिटी हॉल के पास महिलाओं को अपना निशाना बनाते थे। हफ्ते में यह दोनों  पांच ही दिन ही इलाके में झपटमारी को अंजाम देते थे और पुलिस से बचने के लिए नया तरीका निकाला था हर दिन चोरी की नई स्कूटी को इस्तेमाल करके । पुलिस ने पकड़े गए आरोपियों  को  पूछताछ के बाद मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया।

 इन दोनों ने करोल बाग और उसके आसपास के इलाकों में झपटमारी करके आतंक मचाया हुआ था। ज्यादातर यह महिलाओं को निशाना बनाते थे बरात घर , कम्युनिटी सेंटर या बैंकट हॉल  के सामने आते वक्त या फिर जाते वक्त

जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि वारदात में मामा गैंग का हाथ है, जिसे पुलिस ने कभी नहीं पकड़ा  था। पुलिस ने जांच की तो शनिवार रात को उनके रानी झांसी रोड, एमटीएनएल पार्क के पास आने की सूचना मिली। चौकी इंचार्ज संदीप गोदारा ने वा उनकी पुलिस टीम ने वहां जाल बिछा दिया। पुलिस टीम को देखकर आरोपियों ने भागने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस ने पीछा कर आरोपियों को दबोच लिया। पूछताछ के दौरान आरोपियों ने बताया कि लूटे गए मोबाइल वह गफ्फार मार्केट में मोहम्मद तौफीक नामक दुकानदार को बेचते हैं। पुलिस ने छानबीन के बाद उसे भी गिरफ्तार कर लिया। 

 इकबालनामे में दोनों आरोपियों ने बताया कि वह 5 दिन लूटपाट करने के बाद बाकी के 2 दिन अपनी गर्लफ्रेंड के साथ इंजॉय करने के लिए वा अपने शौक पूरे करने के लिए इन सब चोरी और झपटमारी की वारदात को अंजाम देते थे पुलिस उन्हें जेल भेजने के बाद इसमें आगे की जांच भी कर रही है।

Post A Comment:

0 comments: