रिपोर्टर सुहैल अहमद  Delhi

दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने गर्वित इन्नोवेटिव प्रमोटर्स लिमिटेड कंपनी के 16वें डायरेक्टर सचिन भाटी को गिरफ्तार कर लिया भाटी के ऊपर आरोप है कि उन्होंने पोंजी स्कीम "बाइक बोट " के जरिए दिल्ली के करीब 8000 निवेशकों को करीब 250 सौ करोड़ रुपए का चूना लगा दिया इस कंपनी के सभी आरोपियों पर देश के कई शहरों में मामले दर्ज हैं जिन पर कुल मिलाकर 42 हजार करोड़ की चीटिंग का आरोप है।

पोंजी स्कीम "बाइक बोट" में पैसा लगाने वा लोगों को अच्छे रिटर्न का लालच दिया था इन  शातिर लोगों ने।आर्थिक अपराध शाखा के अधिकारियों के मुताबिक इन लोगों ने "बाइक बोट" नाम की इस पोंजी स्कीम को साल 2019 में शुरू किया था ।आरोप है की स्कीम में बाइक पर 62 हज़ार रुपये लगाने पर यह लोग एक साल तक हर महीना 9 हज़ार 500 रुपये हर निवेशकों को दिए जाने का कंपनी ने वादा किया था । इतना ही नहीं स्कीम में एक लाख 24 हज़ार रुपये लगाने पर 17 हज़ार रुपये महीना एक साल तक दिए जाने का भी वादा किया गया था । लेकिन साल भर के अंदर ही कंपनी करीब 42 हजार करोड़ रुपये निवेशकों के समेटकर फरार हो गयी थी । इस मामले में दिल्ली पुलिस को भी करीब 8 हज़ार शिकायते दिल्ली में रहने वाले लोगो से मिली थी । जिसमे जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि आरोपियों ने 8 हज़ार लोगो से तकरीबन 250 सौ करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की थी ।गौतम बुद्ध नगर की डिस्ट्रिक्ट जेल में बंद है ज्यादा आरोपीदिल्ली पुलिस के मुताबिक इस मामले में देश के अलग-अलग शहरों में इनके खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई थी । "बाइक बोट"  स्कीम कंपनी को लेकर आरोपियों ने अपना हेड ऑफिस नोएडा में बनाया था । इस मामले में उत्तर प्रदेश पुलिस इनकी पहले ही गिरफ्तारी कर चुकी है. फिलहाल आरोपी सचिन भाटी गौतमबुद्ध नगर की डिस्ट्रिक्ट जेल में बंद है । जांच के बाद कोर्ट की इजाजत लेकर दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने भी अपने यहां भी दर्ज एफआइआर में इनकी गिरफ्तारी डाल दी है और पुलिस जल्द ही इन्हें रिमांड पर लेगी. आगे की जांच जारी है

Post A Comment:

0 comments: