*अष्टधातु की मूर्तियां चुराने वाले गिरोह के सात बदमाश दबोचे, पांच करोड़ की मूर्ति बरामद*


*रिपोर्टर प्रमोद कुमार जायसवाल की रिपोर्ट*

उत्तर प्रदेश:-गोंडा में पुलिस ने धानेपुर के सतनामी पुरवा के ठाकुरदास पुरवा स्थित राम जानकी मंदिर से अष्टधातु की मूर्तियां चुराने की योजना बनाते समय मूर्ति चोर गिरोह के सात बदमाशों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए बदमाशों की निशानदेही पर पुलिस ने माता जानकी की अष्टधातु की मूर्ति, असलहे व कारतूस बरामद किये हैं। बरामद मूर्ति की कीमत पांच करोड़ रुपये बताई गई है। पुलिस ने गिरोह के सातों बदमाशों के खिलाफ नगर कोतवाली में मामला दर्ज किया है

अपर पुलिस अधीक्षक महेंद्र कुमार ने बताया कि शनिवार देर रात स्वाट, सर्विलांस व नगर कोतवाली पुलिस की संयुक्त टीम को सूचना मिली कि शहर में उतरौला रोड स्थित जयगुरुदेव आश्रम के पास एक बोलेरो गाड़ी में बैठे कुछ लोग थाना धानेपुर स्थित सतनामी पुरवा के रामजानकी मंदिर से मूर्तियां चुराने व डकैती की योजना बना रहे हैं और वहां से धानेपुर के लिए निकलने वाले हैं। इस पर स्वाट व सिर्विलांस टीम समेत कोतवाली नगर की पुलिस ने मौके पर पहुंचकर करिया सिंह व रोहित सिंह निवासी अर्जुन वैश्य पुरवा, मौजा सोनौली मोहम्मदपुर, थाना उमरीबेगमगंज, राजकुमार घरूक निवासी वैशन पुरवा मौजा बरौली थाना उमरीबेगमगंज, मो. तालिब अंसारी निवासी सकरौरा थाना करनैलगंज, अजितेश कुमार सिंह निवासी सरायगौरा, महाराजगंज जनपद जौनपुर और दीपचंद गौड़ निवासी सराय गौरा थाना महाराजगंज जनपद जौनपुर को गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए लोगों में करिया सिंह के पास से एक तमंचा .22 बोर, पांच कारतूस व एक खोखा, रोहित सिंह के पास से एक तमंचा 315 बोर व एक कारतूस व राजकुमार घरूक के पास से एक देशी बंदूक व तीन कारतूस बरामद हुए हैं।

पूछताछ में अभियुक्तों ने बताया कि वह सभी धानेपुर के सतनामीपुरवा के ठाकुरदास पुरवा स्थित रामजानकी मंदिर में स्थापित अष्टधातु की मूर्तियां लूटने की योजना बना रहे थे। इसके लिए मंदिर की कई बार रेकी भी कर चुके हैं। एएसपी ने बताया कि कड़ाई से पूछताछ में अभियुक्त राजकुमार घरूक व अजितेश कुमार ने बताया कि उन्होंने काफी दिनों पहले मनकापुर के आगे एक मंदिर से अष्टधातु की माता जानकी की मूर्ति चुराई थी। जिसे तालिब अंसारी के माध्यम से बेचने के लिए करनैलगंज के सुनार जावेद को मूर्ति के दोनों हाथ काटकर सैंपल भी दिया था। सैंपल टेस्ट करने के बाद जावेद ने कंफर्म कर दिया कि वह अष्टधातुु की ही मूर्ति है। इस पर मूर्ति जावेद को दे दी गई थी। मूर्ति इस समय करनैलगंज के जावेद के पास ही है। इस पर पुलिस ने जावेद निवासी भैरवनाथ पुरवा, करनैलगंज के घर दबिश देकर उसे गिरफ्तार करके माता जानकी की अष्टधातु की मूर्ति बरामद कर ली। जिसकी कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में लगभग पांच करोड़ रुपये बताई जा रही है। एएसपी ने बताया कि बरामद मूर्ति के दोनों हाथ कटे हैं। गिरोह के सभी सात बदमाशों के खिलाफ नगर कोतवाली में मामला दर्ज किया गया है। धानेपुर के बाद करनैलगंज व बढ़नी के मंदिर में चोरी की थी योजना

पुलिस के हत्थे चढ़े बदमाश करिया सिंह, रोहित सिंह, राजकुमार घरूक, मो. तालिब अंसारी, अजितेश कुमार सिंह, दीपचंद गौड़ व जावेद ने पूछताछ में बताया कि उन सभी ने करनैलगंज स्थित संतोषी माता मंदिर व जनपद सिद्धार्थनगर के बढ़नी स्थित रामजानकी मंदिर से मूर्तियां चुराने की साजिश रची थी। मगर धानेपुर के सतनामी पुरवा के रामजानकी मंदिर में चोरी करने से पहले ही पुलिस के हत्थे चढ़ गए।

अपर पुलिस अधीक्षक महेंद्र कुमार ने बताया कि शनिवार देर रात स्वाट, सर्विलांस व नगर कोतवाली पुलिस की संयुक्त टीम को सूचना मिली कि शहर में उतरौला रोड स्थित जयगुरुदेव आश्रम के पास एक बोलेरो गाड़ी में बैठे कुछ लोग थाना धानेपुर स्थित सतनामी पुरवा के रामजानकी मंदिर से मूर्तियां चुराने व डकैती की योजना बना रहे हैं और वहां से धानेपुर के लिए निकलने वाले हैं। इस पर स्वाट व सिर्विलांस टीम समेत कोतवाली नगर की पुलिस ने मौके पर पहुंचकर करिया सिंह व रोहित सिंह निवासी अर्जुन वैश्य पुरवा, मौजा सोनौली मोहम्मदपुर, थाना उमरीबेगमगंज, राजकुमार घरूक निवासी वैशन पुरवा मौजा बरौली थाना उमरीबेगमगंज, मो. तालिब अंसारी निवासी सकरौरा थाना करनैलगंज, अजितेश कुमार सिंह निवासी सरायगौरा, महाराजगंज जनपद जौनपुर और दीपचंद गौड़ निवासी सराय गौरा थाना महाराजगंज जनपद जौनपुर को गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए लोगों में करिया सिंह के पास से एक तमंचा .22 बोर, पांच कारतूस व एक खोखा, रोहित सिंह के पास से एक तमंचा 315 बोर व एक कारतूस व राजकुमार घरूक के पास से एक देशी बंदूक व तीन कारतूस बरामद हुए हैं।

पूछताछ में अभियुक्तों ने बताया कि वह सभी धानेपुर के सतनामीपुरवा के ठाकुरदास पुरवा स्थित रामजानकी मंदिर में स्थापित अष्टधातु की मूर्तियां लूटने की योजना बना रहे थे। इसके लिए मंदिर की कई बार रेकी भी कर चुके हैं। एएसपी ने बताया कि कड़ाई से पूछताछ में अभियुक्त राजकुमार घरूक व अजितेश कुमार ने बताया कि उन्होंने काफी दिनों पहले मनकापुर के आगे एक मंदिर से अष्टधातु की माता जानकी की मूर्ति चुराई थी। जिसे तालिब अंसारी के माध्यम से बेचने के लिए करनैलगंज के सुनार जावेद को मूर्ति के दोनों हाथ काटकर सैंपल भी दिया था। सैंपल टेस्ट करने के बाद जावेद ने कंफर्म कर दिया कि वह अष्टधातुु की ही मूर्ति है। इस पर मूर्ति जावेद को दे दी गई थी। मूर्ति इस समय करनैलगंज के जावेद के पास ही है। इस पर पुलिस ने जावेद निवासी भैरवनाथ पुरवा, करनैलगंज के घर दबिश देकर उसे गिरफ्तार करके माता जानकी की अष्टधातु की मूर्ति बरामद कर ली। जिसकी कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में लगभग पांच करोड़ रुपये बताई जा रही है। एएसपी ने बताया कि बरामद मूर्ति के दोनों हाथ कटे हैं। गिरोह के सभी सात बदमाशों के खिलाफ नगर कोतवाली में मामला दर्ज किया गया है। धानेपुर के बाद करनैलगंज व बढ़नी के मंदिर में चोरी की थी योजना

पुलिस के हत्थे चढ़े बदमाश करिया सिंह, रोहित सिंह, राजकुमार घरूक, मो. तालिब अंसारी, अजितेश कुमार सिंह, दीपचंद गौड़ व जावेद ने पूछताछ में बताया कि उन सभी ने करनैलगंज स्थित संतोषी माता मंदिर व जनपद सिद्धार्थनगर के बढ़नी स्थित रामजानकी मंदिर से मूर्तियां चुराने की साजिश रची थी। मगर धानेपुर के सतनामी पुरवा के रामजानकी मंदिर में चोरी करने से पहले ही पुलिस के हत्थे चढ़ गए।


Post A Comment:

0 comments: