रिपोर्टर सुहैल अहमद   DELHI 

फतेहपुर जिले में गाजीपुर थाना क्षेत्र के लमहेटा गांव में एक ही फंदे में देवर और भाभी के शव लटकते मिले। मंगलवार सुबह परिजनों ने कमरे का दरवाजा खोला तो दोनों के शव साड़ी से बने फंदे से लटक रहे थे।पुलिस के अनुसार देवर और भाभी में प्रेम प्रसंग था, देवर की शादी तय हो जाने से दोनों अवसाद में थे। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। मामला गाजीपुर थाना क्षेत्र का है।बांदा जिले के बबेरू थाना क्षेत्र के बदौली केवटरा निवासी रसपाल की बेटी सुनीता (28) की शादी 2016 में ब्राम्हणतारा गांव के हरिओम निषाद पुत्र शिवबरन के साथ हुई थी। हरिओम बांदा में जेसीबी, चालक है।काम के सिलसिले में अक्सर बांदा में रहता है। शादी के कुछ दिन बाद से सुनीता और देवर राममिलन (22) के बीच नाजायज रिश्ते हो गए। वह एक दूसरे को चाहने लगे। यह बात परिवार के लोगों को पता लगी थी।कहीं न कहीं अब विवाद की स्थिति बनने लगी थी। मामले को खत्म करने के लिए परिजनों ने राममिलन की शादी करने की सोची। असोथर थाना क्षेत्र के एक गांव में राममिलन की 7 मई 2021 की शादी की तारीख पक्की हुई थी।तभी से देवर और भाभी अलग होने के अवसाद में जीने लगे थे। परिजनों ने बताया कि मंगलवार देर रात राममिलन पिता के साथ निमंत्रण से लौटा था। सभी लोग सोने चले गए। इस दौरान किसी से कोई विवाद नहीं हुआ।मगलवार सुबह सुनीता कमरे से बाहर नहीं निकली। कमरे से बच्ची की रोने की आवाज  आ रही थी और राममिलन भी नहीं दिख रहा था।तभी दरवाजे की कुंडी परिजनों ने हाथ डालकर खोली तो नजारा देखकर परिजनों के होश उड़ गए। पंखे के हुक से साड़ी का फंदा बंधा हुआ था। साड़ी के एक छोर पर सुनीता और दूसरे सिरे पर राममिलन के शव लटके हुए थे। जाफरगंज सीओ संजय शर्मा और एसओ कमलेश पाल मौके पर पहुंचे। मौके पर पहुंची फोरेंसिक टीम ने भी पड़ताल कीएएसपी राजेश कुमार ने बताया कि दोनों के बीच  प्रेम संबंध का मामला था। राममिलन के पिता शिवबरन की ओर से प्रेम प्रसंग के चलते आत्महत्या की तहरीर दी गई है। किसी पक्ष ने आरोप नहीं लगाया है।

Post A Comment:

0 comments: