नवी मुंबई।

मनोज कुमार

         नवी मुंबई के  वाशी  पुलिस ने एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है जो फर्जी कागजात आधार कार्ड पेनकार्ड बनाकर बैंकों में खाता खुलवा कर लाखो की ठगी कर फरार हो जाते थे। 

 प्राप्त जानकारी के अनुसार आरोपी बिल्डर से घर खरीदते थे जिसमें बिल्डर को 2 लाख रुपये नगद देकर बिल्डर से सेल एग्रीमेंट बना लेते थे जिसके बाद बैंक में लोन के लिए एप्पलीकेशन करते थे। और वही सेल एग्रीमेंट लेकर बैंकों में फर्जी कागजात लगाकर बिल्डर के नाम का फर्जी  बैंक खाता खुलवा कर लोन की सारी रकम फर्जी खाते से निकाल  लेते थे। जिसके बाद वाशी पुलिस ने श्रीधर नरोला (43 ) ,सत्येन यशवंत पदावल उर्फ़ संजय सुनील सावंत (45 ) ,हितेश वेद उर्फ़ संजय सुनील सावंत (45 ) और पवन सिन्हा उर्फ़ अजय शेट्टी (45 ) को मीरा रोड और कांदिवली से  गिरफ्तार किया है। वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक संजीव धुमाल ने बताया कि  बजाज फायनेंस  के तरफ से वाशी पुलिस स्टेशन में दो वर्ष पहले 52 लाख रुपए होम लोन लेकर ठगी किए जाने की शिकायत दर्ज कराई गई थी।  इस शिकायत के आधार पर वाशी पुलिस ने जांच शुरू रखी थी।   इस बिच वाशी  पुलिस को जानकारी मिली कि आरोपी मीरा रोड में छिपे हुए है।  इस जानकारी के आधार पर एसीपी विनायक वस्त के मार्गदर्शन में  वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक संजीव धुमाल, पुलिस निरीक्षक (क्राइम ) प्रमोद तोरडमल ,एपीआई जयंत राजुरकर ,एपीआई सचिन ढगे ,हवलदार शैलेश कदम ,संजय सावंत की टीम ने जल बिछाकर चारो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

Post A Comment:

0 comments: