ओडिशा में कालिया योजना को लेकर भाजपा और राज्‍य सरकार के बीच तकरार शुरू हो गई है। भाजपा ने बीजू जनता दल पर तीखा हमला किया। भाजपा के राज्य संपादक गोलोक महापात्र ने कहा कि प्रदेश सरकार किसानों के हित का दिखावा कर रही है।


Reporter G k Singh

प्रदेश में कालिया योजना को लेकर भाजपा और बीजद के बीच फिर से तकरार शुरू हो गई है। मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कालिया योजना में किसानों के लिए धनराशि जारी कर किसानों के हितैषी होने का संदेश दिया। इसे लेकर भाजपा ने बीजू जनता दल पर तीखा प्रहार किया है भाजपा के राज्य संपादक गोलोक महापात्र ने कहा कि जब कालिया योजना में इतने सारे किसानों का नाम राज्य सरकार दावे के साथ कह रही है तो केंद्र सरकार की पीएम किसान योजना के लिए केंद्र को क्यों किसानों की सही सूची सौंपी नहीं जाती। 

 गोलक महापात्र ने राज्य सरकार के दावों पर सवाल उठाते हुए कहा कि प्रदेश सरकार किसानों के हित का दिखावा कर रही है वास्तव में पिछले चुनाव के समय  सरकार ने कालिया योजना में लाभार्थियों को धनराशि देने की बात कही थी। वह धन देने में 2 साल क्यों लग गए। भाजपा नेता ने कहा कि राज्य सरकार की मंशा कालिया योजना को लेकर किसानों को भ्रमित करने की रही है । उन्होंने कहा कि जब केंद्र सरकार किसानों के हित के लिए पीएम किसान निधि योजना से लेकर कई योजनाएं चला रही है तो राज्य के किसानों को इससे क्यों वंचित रखा जा रहा है।

महापात्र ने कहा कि हाल ही में राज्य सरकार ने 83लाख किसानों को कालिया योजना में धनराशि देने की बात कही है अगर वास्तव में इतने किसान पंजीकृत हैं तो इसकी सूची केंद्र को भी दी जानी चाहिए। भाजपा नेता ने कहा कि पीएम किसान निधि का धन राज्य के किसानों तक पहुंच पाए इसके लिए प्रदेश सरकार किसी तरह की बाधा खड़ी न करे। अब तो चुनाव राज्य सरकार द्वारा कालू योजना के आश्वासन का प्रसंग उठाते हुए भाजपा नेता ने कहा कि अयोग्य हिताधिकारियों को चुनाव के समय मनमाने ढंग से पैसा दिया हुआ था बाद में गुंडे लगाकर ज्यादा पैसा वापस करने की धमकी दी गई। किसानों को लेकर राज्य सरकार दोहरा मानदंड अपना रही है। भाजपा नेता ने कहा कि जब मोदी जी किसानों के हित के लिए केंद्र से ग्रसित होते हुए किसानों तक पहुंचाने में राज्य सरकार क्यों डाल रही है।

Post A Comment:

0 comments: