ब्यूरो चीफ सुहैल अहमद दिल्ली

 उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के थाना हजरतगंज में एक पीड़ित व्यक्ति ने वहां की पुलिस को सूचना दी कि 2 महिलाएं और उनके विभाग के 3 पुलिसवाले मिलकर उसे ब्लैकमेल कर रहे हैं पैसों के लिए वरना उसका अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी दे रहे हैं इस घटना से वह मानसिक रूप से पूरी तरह परेशान हो गया है कृपया उसे इस झंझट से निकाले वरना वह सुसाइड कर लेगा उसके अलावा और कोई दूसरा रास्ता नहीं बचा ! इस फोन कॉल से विभाग में हड़कंप मच गया और  वहां के थाना अध्यक्ष ने पीड़ित की इस शिकायत को गंभीरता से लिया और  तुरंत सर्विलांस की एक टीम को इस मामले की जांच में लगाया क्योंकि इसमें विभाग के पुलिसवाले भी शामिल थे


 पीड़ित शिकायतकर्ता ने पुलिस को सूचना दी कि पैसे की उगाही के लिए 2 महिलाएं और 3 पुलिसवाले कानपुर रोड के पास गाड़ी में उससे पैसा लेने आए हैं पुलिस की टीम और सर्विलांस की टीम मौके पर पहुंची और उन सब लोगों को गिरफ्तार कर लिया


 उत्तर प्रदेश पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर जी के मुताबिक यह गिरोह पूरे फिल्मी स्टाइल और  पेशेवर तरीके से सोशल मीडिया साइट पर अपने आसपास के लोगों को पहचान कर टेलीफोन से लच्छेदार मीठी बातें करती थी जिससे वह व्यक्ति इनके जाल में बहुत जल्दी फंस जाता था और उसे यह दोनों अपने निर्धारित स्थान पर  बुलाती थी जैसे ही कोई भी व्यक्ति उनके  बताए हुए स्थान पर पहुंचता था तो यह दोनों महिलाएं उससे अश्लील बातें करके जितनी जल्दी हो सके उसके कपड़े उतरवा लेती थी ठीक उसी समय प्लान के  अनुसार तीन पुलिसवाले पंकज गुप्ता , अतुल सक्सेना  और अजीजुल हसन सिद्दीकी वर्दी के अंदर आ जाते थे और नंगे ही लोगों को पकड़कर उनका वीडियो बना लेते थे जो आगे ब्लैकमेल करने के काम आता था जो व्यक्ति पैसे देने से इनकार करता था तो उसका वीडियो वायरल करने की और उस पर मॉलेस्टेशन का मुकदमा दर्ज करने की धमकी दी जाती थी जिससे वह आसानी से पैसे दे सके |


यह दोनों महिलाएं काफी समय से हनी ट्रैप के जरिए अच्छे घरों के लोगों को फांसती थी और उनसे ब्लैकमेल करके पैसे लेती थी जिसमें पंकज गुप्ता  , अतुल सक्सेना  और  अजीजुल हसन यह पुलिस वाले भी उनकी मदद करते थे इन सब के खिलाफ धारा 419 , 420 ,170 , 171 , 384, 411 और 34 आईपीसी के तहत अभियोग पंजीकृत कर के आगे की कार्यवाही की जा रही है  इन्होंने ब्लैकमेल के जरिए कितने लोगों को अपना शिकार बनाया है

Post A Comment:

0 comments: